Monday, 15 April 2019

कंप्यूटर ऑब्जेक्टिव प्रश्न pdf Download

नमस्कार दोस्तों , आज मै इस पोस्ट के माध्यम से आपके लिए सभी प्रकार के competetive exams में पूछे जाने वाले कुछ महत्वपूर्ण कंप्यूटर ऑब्जेक्टिव प्रश्न pdf लेके आया हु.तो अगर आप competetive एग्जाम की prepration कर रहे है.तो ये computer के important questions आपके लिए काफी मददगार(helpfull) साबित होंगे.इन क्वेश्चन को आप अच्छे से पढ़ लीजिए क्योंकि कभी भी, किसी भी एग्जाम में यह क्वेश्चंस(Questions) आपसे पूछे जा सकते हैं क्योंकि हमने यहां पर जितने भी क्वेश्चन(Questiions) लिखे हुए हैं सभी बहुत ही इंर्पोटेंट क्वेश्चंस है .और आपने पीडीएफ के रूप में भी डाउनलोड कर सकते हैं.

https://www.wikigyani.in/2019/04/computer-objective-prashna-pdf-download.html

कंप्यूटर ऑब्जेक्टिव प्रश्न pdf

अगर आप सभी महत्वपूर्ण (Computer Objective Questions pdfकंप्यूटर ऑब्जेक्टिव प्रश्न pdf को डाउनलोड करना चाहते हैं. तो नीचे आपको लिंक मिल जाएगा वहां से आप जाकर सारे pdf को डाउनलोड कर सकते हैं. और आप यहाँ नीचे से क्वेश्चंस को पढ़ भी सकते हैं और हां अगर चाहे तो इनका आप pdf भी डाउनलोड कर सकते हैं.

01⏩ पहला ऑपरेटिंग सिस्टम(Operating System) कब डेवलप किया गया था ?
⇒1910 
⇒1940 
1950 
⇒1980 
⇒1985 


02⏩ Ctrl और Shift किस प्रकार की keys है? 
⇒एडजस्टमेंट 
⇒फंक्शन 
⇒अल्फान्यूमैरिक 
modifier 
⇒इनमें से कोई नहीं 


03⏩ Header कहां उपस्थित रहता है ?
⇒बॉटम में 
टॉप में 
⇒सेंटर में 
⇒सभी जगहों पर 
⇒इनमें से कोई नहीं 


04⏩ सभी डिलीट(Dellete) की गई फाइल(File) कहां जाती है ?
रिसाइकल बिन 
⇒टूल बार 
⇒टास्कबार 
⇒माय कंप्यूटर 
⇒इनमें से कोई नहीं 


05⏩ MICR मे C का क्या मतलब होता है? 
⇒code 
character 
⇒colour 
⇒computer 
⇒none of these 


06⏩ एनालॉग सिगनल(Analog Signal) को डिजिटल सिगनल(Digital Signal) में बदलने के लिए किस क्रिया को प्रयोग में लिया जाता है? 
⇒डिजिटाइजिंग 
⇒demodulation 
माड्यूलेशन 
⇒इनमें से कोई नहीं 


07⏩ पहला ग्राफिकल वेब ब्राउजर(Graphical Web Browser) किसने बनाया था? 
मार्क एंडरसन 
⇒मोज़िला फाउंडेशन 
⇒तिम बर्नर्स ली 
⇒जैकब्स,ईयान 


08⏩ निम्नलिखित में से कौन सा सर्च इंजन(Search Engine) नहीं है ? 
⇒nexes 
⇒netscap navigator 
⇒internet explorer 
मोजाइक 

09⏩ किसी भी दस्तावेज(File) को किसी अन्य दस्तावेज(File) से जोड़ने की क्रिया क्या कहलाती है? 
⇒hyperpoint 
⇒hyperjunction
हाइपरलिंक 
⇒hightechlink 


10⏩ CPU का फुल फॉर्म क्या होता है? 
⇒Computer'S processor unit 
⇒Computer's personal unit 
⇒Computer peripheral unit 
Central Processing Unit 


11⏩ CUI का पूरा नाम क्या है? 
⇒Common User Interface 
⇒Casual User Interface 
Command User Interface 
⇒उपरोक्त में से कोई नहीं 


12 ⏩ निम्न में से कौन सी एक नेटवर्क(Network) की संरचना नहीं है? 
⇒रिंग 
⇒मेश 
स्क्वायर 
⇒स्टार 


13⏩ ISDN का पूरा नाम है? 
⇒इंटेलिजेंट सर्विसेज डिजिटल नेटवर्क 
⇒इंडियन सर्विसेज विजिटल नेटवर्क 
⇒इनकमिंग सिस्टम डिजाइन नेटवर्क 
इंटीग्रेटेड सर्विसेज डिजिटल नेटवर्क 


14⏩ सर्वप्रथम बनाया जाने वाला उपलब्ध नेटवर्क(Network) था? 
⇒आईबीएम पीसी नेटवर्क 
⇒DEC net 
⇒नोबेल नेटवेयर 
अरपानेट 


15⏩निम्न में से किसका प्रयोग प्रोग्राम की गति(Speed) को बढ़ाने में होता है? 
⇒डिस्क क्लीनअप 
⇒disk formatter 
disk defragmenter 
⇒इनमें से कोई नहीं 


16⏩ टिपिकल नेटवर्क(Typical) में सबसे महत्वपूर्ण और सबसे शक्तिशाली कंप्यूटर कौन सा है ? 
⇒डेस्कटॉप 
नेटवर्क सर्वर 
⇒नेटवर्क क्लाइंट 
⇒नेटवर्क स्टेशन 


17⏩ DOS का पूरा नाम क्या होता है? 
Disk operating system 
⇒Disk operating schedule 
⇒Device operating schedule 
⇒Device operating system 


18⏩ Tab बटन का प्रयोग(Use) किस लिए होता है? 
पैराग्राफ इंडेंट करने के लिए 
⇒Cursor स्क्रीन पर नीचे ले जाने के लिए 
⇒Cursor स्क्रीन पर चलाने के लिए 
⇒a ,b दोनों 


19⏩ निम्न में से कौन सी नेटवर्क डिवाइसेज(Network Devices) नहीं है ?
⇒गेटवे 
यूनिक्स 
⇒राउटर्स 
⇒फायर बॉल्स


20⏩ सीडी का आकार कैसा होता है? 
⇒वर्गाकार 
गोलाकार 
⇒आयताकार 
⇒षटकोण

जितने भी क्वेश्चन ऊपर आपको बताए गए हैं. सभी क्वेश्चंस बहुत ही इंपॉर्टेंट हैं. अगर आपने इन्हें पढ़ लिया है. तो अच्छी बात है और आप इन सभी क्वेश्चन(Questions) को अच्छी तरह दिमाग में बैठा कर याद कर ले. अगर आप इन सभी क्वेश्चन(Questions) का पीडीएफ डाउनलोड(PDF Download) करना चाहते हैं. तो नीचे लिंक जुड़ा हुआ है. वहां से आप जाकर डाउनलोड कर सकते हैं नीचे आपके और बहुत सारे क्वेश्चंस(Questions) के पीडीएफ(pdf) फाइल में जाएंगे उन्हें भी एक बार आप अवश्य डाउनलोड करें.

कंप्यूटर ऑब्जेक्टिव प्रश्न pdf Download

    ➦  PDF यहाँ से Download करे  ⏬   

1. computer important questions for competetive exams pdf ➽  DOWNLOAD HERE 
2. computer important questions for competetive exams pdf ➽  DOWNLOAD HERE 
3. computer important questions for competetive exams pdf ➽  DOWNLOAD HERE




➦Other Computer Basic Knowledge in Hindi

➤➤More ...........


सारांश :- दोस्तों अगर आप किसी भी competetive एग्जाम की तयारी कर रहे है .तो आपके लिए ऊपर बताये गए सारे  कंप्यूटर ऑब्जेक्टिव प्रश्न pdf बहुत ही important है .to आप इन्हें एक बार जरूर पढ़ कर तैयार कर ले .

विडियो :- यहाँ पर आप computer quiz के साथ computer के महत्वपूर्ण प्रश्न का mock टेस्ट विडियो के माध्यम से दे सकते है .


Sunday, 14 April 2019

Computer Question Answer in hindi pdf कंप्यूटर के महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर-computer gk

नमस्कार दोस्तों ,आज हम इस पोस्ट में आपके लिए computer question answer in hindi pdf लेके आये है .आज हम आपको computer gk से जुड़े कुछ ऐसे महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर बताएँगे जोकि आपसे सभी प्रकार के competetive exams में पूछे जाते है .ऐसे questions को आपको हमेशा याद रखना चाहिए.क्युकी ऐसे प्रश्न हमेशा पूछे जाते रहते है .और हाँ लास्ट में आप in सबका pdf फाइल भी डाउनलोड कर सकते है .

https://www.wikigyani.in/2019/04/computer-question-answer-in-hindi-pdf.html


Computer Question Answer in hindi pdf

computer questions का pdf आपको नीचे मिल जायेगा लेकिन अगर आप चाहते है .to सरे क्वेश्चन यहाँ से पढके याद कर सकते है .लेकिन आप pdf भी अवश्य डाउनलोड करे क्युकी जिससे आपको ढूढने में परेशानी न हो और जब चाहे आप pdf ओपन करके पढ़ सके .


01 ⏩ IC(integreated circuit) किस धातु से बनी होती है :-  सिलिकॉन 
02 ⏩ विश्व का प्रथम सुपर कंप्यूटर(Super Computer) कौन सा है :- 
03 ⏩ विश्व का प्रथम सुपर कंप्यूटर(Super Computer) किस कंपनी द्वारा बनाया गया था :-क्रे-riserch
04 ⏩ इंटीग्रेटेड सर्किट(IC) को किसने develop किया था:-  JS Kilby 
05 ⏩ भारत का प्रथम सुपर कंप्यूटर(Super Computer) कौन सा है :- PARAM
06 ⏩ एनालिटिकल इंजन(Analitical Engine) किसने Develop किया था :- Charles Babbage
07 ⏩ टेबलेट पीसी(Tablet PC) किस टाइप का कंप्यूटर है :- Micro Computer
08 ⏩ CPU मे C का क्या अर्थ है :- Central
09 ⏩ DATA शब्द किस भाषा से लिया गया है :-Latin
10 ⏩ कंप्यूटर का ब्रेन(Brain) किसे जाना जाता है :-CPU
11 ⏩ MICR का पूरा नाम क्या है :- Magnetic Ink Character Reader
12 ⏩ USB का पूरा नाम क्या है :-Universal Serial Bus
13 ⏩ SPACE BAR किस लिए प्रयोग किया जाता है :- दो शब्दों के बीच खली जगह देने के लिए 
14 ⏩KB का फुल फॉर्म क्या होता है :- Kilo Bite 
15 ⏩ Kb का फुल फॉर्म क्या होता है :- Klio Bit 
16 ⏩ MB का फुल फॉर्म क्या होता है :- Mega Bite 
17 ⏩ Mb का फुल फॉर्म क्या होता है :- Mega Bit 
18 ⏩ STORAGE का सबसे बड़ा यूनिट(Unit) क्या है:- Geop Byte  
19 ⏩ बाइनरी नंबर सिस्टम(Binary Number System) का आधार कितना होता है:- 2  
20 ⏩ डेसिमल नंबर सिस्टम(Decimal Number System) का आधार कितना होता है :- 10 
21 ⏩ बाइनरी सिस्टम(Binary Number System) को और हम किस नाम से जानते हैं :-  BASE 2 SYSTEM 
22 ⏩ ASCII का फुल फॉर्म क्या होता है :- American Standard Code For Information Interchange 
23 ⏩ IBM PC का आविष्कार कब हुआ था :-1981 ई. में 
24 ⏩ IBM PC कि आविष्कारक कौन है :- विलियम सी लायथ ने 
25 ⏩ प्रथम इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर(Electronic Computer) कौन था:- ENIAC 
26 ⏩ कंप्यूटर अपने परिणामों को भविष्य(Future) के लिए सुरक्षित (Safe) कहां रखता है :- मेमोरी में 
27 ⏩ कंप्यूटर को बंद(Close) करने की प्रक्रिया क्या कहलाती है :-Shut-Down 
28 ⏩ कंप्यूटर को चालू(Start) करने की प्रक्रिया क्या कहलाती है :- Boot-Up 
29 ⏩ मानीटर(Moniter) को और क्या कहा जाता है :-VDU 
30 ⏩ VDU का फुल फॉर्म क्या होता है :-Vidual Display Unit 
31 ⏩ASCII मैं एक करैक्टर(Character) कितने बाइट के बराबर होता है:-8 bytes के 
32 ⏩हार्ड डिस्क मेमोरी(memory) के अंतर्गत आता है :-Secondary Memory 
33 ⏩सबसे बड़ा कंप्यूटर नेटवर्क है :-Internet 
34 ⏩भारत का सर्वाधिक शक्तिशाली(Powerfull) सुपर कंप्यूटर कौन सा है :-परम पदम 
35 ⏩एशिया का दूसरा सबसे बड़ा कंप्यूटर(Computer) कौन सा है :- परम-1000 
36 ⏩एचटीटीपी(HTTP) का फुल फॉर्म क्या होता है :- Hyper Text Transfer Protocol  
37 ⏩कोबोल(COBOL) भाषा(Programming Language) का उपयोग कहां पर होता है:-ब्यापारिक कार्यो में 
38 ⏩आईबीएम का फुल फॉर्म क्या होता है :- International Business Machine 
39 ⏩फ्लॉपी क्या है :- मेमोरी डिवाइस 
40 ⏩विश्व का सबसे तेज कंप्यूटर है :- T-3A
41 ⏩विश्व में सर्वाधिक कंप्यूटरों(Computers) वाला देश|(Country) कौन सा है:- संयुक्त राज्य अमेरिका 
42 ⏩कंप्यूटर साक्षरता दिवस कब मनाया जाता है :- 2 अक्टूबर 
43 ⏩गूगल, याहू, एमएसएन, क्या है :-Search Engine 
44 ⏩विश्व का पहला कंप्यूटरीकृत पोस्ट ऑफिस(Post Office) है- नई दिल्ली का 
45 ⏩ internet पर वस्तुओं के व्यापार की प्रक्रिया क्या कहलाती है:- E - Commerce 
46 ⏩ डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू(WWW) का अविष्कार कब हुआ था:- 1989-1990में 
47 ⏩किसी शब्द की लंबाई(Length) किसमें मापी जाती है- बिट्में 
48 ⏩CAD का तात्पर्य है :- Computer Aided Design 
49 ⏩इंटरनेट पर अपनी वेबसाइट बनाने वाली भारत की पहली राजनीतिक पार्टी(Political Party) कौन सी है:- भारतीय जनता पार्टी  
50 ⏩FAT का अर्थ है:- FILE ALLOCATION TABLE
51 ⏩एक्सेल का एक्सटेंशन(Extension) क्या होता है :-.XLS 
52 ⏩क्या कंप्यूटर सोंच(Think) सकता है:- नहीं  
53 ⏩बिज़नेस डाटा को रो और कॉलम में व्यवस्थित करने के लिए प्रयोग किया जाने वाला फार्म क्या कहलाता है :- Spread Sheet 
54 ⏩WAN का फुल फार्म होता है :- Wide Area Network 
55 ⏩LAN का फुल फॉर्म क्या होता है :- Local Area Network 
56 ⏩नॉर्टन(NORTAN) है एक प्रकार का :- एंटीवायरस सॉफ्टवेयर 
57 ⏩इंटरनेट द्वारा भेजे जाने वाला सन्देश(message) क्या कहलाता है:- E - Mail 
58 ⏩कंप्यूटर(computer) की अशुद्धि क्या कहलाती है :-BUG
59 ⏩हार्ड डिस्क की स्पीड(speed) कितनी होती है :- 5400 RPM to 7200 RPM
60 ⏩HTML का फुल फॉर्म(Full-Form) क्या होता है :- Hyper Text Markup Language
61 ⏩वायरस(Virus) क्या होता है :- एक सॉफ्टवेयर 
62 ⏩कंप्यूटर में प्रोग्रामो की  सूची(List) क्या कहलाती है   :-MENU 
63 ⏩कंप्यूटर विज्ञान में पीएचडी(Ph.D) करने वाले प्रथम भारतीय कौन है :-डा० rajeddy 
64 ⏩माउस(Mouse) का आविष्कार किसने किया था :- डगलस सी० एंजेलबर्ट 
65 ⏩वह सॉफ्टवेयर(software) जिन्हें  फ्री(free) में यूज कर सकते हैं उन्हें क्या कहते हैं:- फ्रीवेयर 
66 ⏩मौजूदा डॉक्यूमेंट की कॉपी बनाने के लिए किस कमांड(command) का प्रयोग करते हैं :- CTRL +C 
67 ⏩सबसे तेज काम करने वाला प्रिंटर(Printer) है :-लेज़र प्रिंटर 
68 ⏩पर्सनल कंप्यूटर(PC) का आविष्कार कब हुआ था :-
69 ⏩BIOS का फुल फॉर्म क्या होता है :-Basic Input Output System 
70 ⏩ऑपरेटिंग सिस्टम(Operating System) किस प्रकार का सॉफ्टवेयर है :- System Software 
71 ⏩इंटरनेट एक्सप्लोरर(Internet Explorer) क्या है :- Web Browser 
71 ⏩CURRENT TIME को इंसल्ट करने के लिए किस शॉर्टकट की(Short cut Key) का प्रयोग करते हैं :-ALT+SHIFT+T 
72 ⏩माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस(Microsoft Office) कब डेवलप किया गया:- 1980 ई. में 
73 ⏩माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस(MicroSoft Office) को किसने डिवेलप किया :- Microsoft Inc.
74 ⏩एमएस वर्ड मैं न्यू फाइल(New File) ओपन करने के लिए किस शॉर्टकट की(Short cut Key) का प्रयोग करते हैं :-CTRL +N 
75 ⏩प्रिंट(Print) करने के लिए किस short cut key  का प्रयोग करते हैं :- Ctrl + P 
76 ⏩URL का फुल फॉर्म क्या होता है :- यूनिवर्सल रिसौर्स लोकेटर 
77 ⏩M-COMMERCE क्या है :- मोबाइल कॉमर्स 
78 ⏩स्पाइडर(Spider) क्या है :- वेबसाइट को देखने के लिए एक एप्लीकेशन' 
79 ⏩टेलनेट(Telnet) क्या है:- प्रोटोकॉल 
80 ⏩पहला कंप्यूटर वायरस(Virus) कब रिलीज हुआ था:- 1986 ई० में  
81 ⏩TREND MICRO क्या है:- एंटीवायरस सॉफ्टवेयर 
82 ⏩किसी फाइल और फोल्डर(Folder) को सर्च करने के लिए शॉर्टकट की(Shortcut Key) का प्रयोग करते हैं :-F3 
83 ⏩ ALU में क्या होते हैं :-Arithmatic Logic Unit 
84 ⏩माइक्रोप्रोसेसर(Microprocessor) किस पीढ़ी(Generation) के कंप्यूटर में प्रयोग किया जाता है :- चतुर्थ 
85 ⏩ USB क्या है :- यूनिवर्सल सीरियल बस 
86 ⏩किसी प्रोग्राम(Program) को हम पहले चित्र के रूप में व्यवस्थित करते हैं उसे क्या कहते हैं :- Flow Chart 
87 ⏩सबसे लोकप्रिय प्रोग्रामिंग लैंग्वेज(Programming Language) होती है :- JAVA
88 ⏩E.D.P का फुल फॉर्म(Full Form) क्या होता है:- इलेक्ट्रॉनिक डाटा प्रोसेसिंग 
89 ⏩कीबोर्ड में कुल कितने फंक्शन की(functional keys) होते हैं :-12 
90 ⏩व्यवसायिक कार्य(commercial work) उपयोग होने वाला डोमेन नाम(Domain Name) क्या है:- .com  
91 ⏩शिक्षा(Education) के क्षेत्र में प्रयोग किए जाने वाला डोमेन नेम(Domain Name) क्या है :-.edu 
92 ⏩इंडिया(bharat) के लिए प्रयोग किया जाने वाला डोमेन नाम(Domain Name) क्या है :-.in 
93 ⏩प्रोग्रामर हेतु प्रयोग की जाने वाली पहली भाषा(Programming Language) कौन सी है :-Fortran  
94 ⏩प्रेजेंटेशन(Presentation) बनाने के लिए किस एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर(Application Software) का इस्तेमाल होता है:- Powerpoint 
95 ⏩कंप्यूटर के जनक(Father Of Computer) हम kinhe जानते हैं :- चार्ल्स Babbage
96 ⏩ई-मेल(E-Mail) के खोजकर्ता कौन है:- शिखा AYYIYADURAI 
97 ⏩PRINTER है:- Output Device
98 ⏩स्केनर(Scanner) एक प्रकार का है :-Input Device 
99 ⏩पावर पॉइंट(Power Point) का एक्सटेंशन क्या होता है :-.PPT 
100 ⏩इंटरनेट पर सामान बेचना और खरीदना क्या कहलाता है:- E-commerce 


Computer Question Answer in hindi pdf 

computer gk से रिलेटेड जितने भी क्वेश्चन ऊपर दिए गए है.सभी questions सभी competetive exams के लिए बहुत ही उपयोगी है.आप इन्हें अवश्य याद कर ले .और अगर आप Computer Question Answer in hindi pdf डाउनलोड करना चाहते है .to आप यहाँ से डाउनलोड कर सकते है .

✋✋↓ डाउनलोड Computer Question Answer in hindi pdf ↓✋✋

डाउनलोड computer क्वेश्चन answer pdf :- क्लिक हियर !

सारांश :- दोस्तों आपने यहाँ पे computer के questions to पढ़ ही लिए होंगे और Computer Question Answer in hindi pdf भी डाउनलोड कर लिए होंगे .ऐसे ही हम आपके लिए computer के important questions लाते रहते है .to आप हमारे इस ब्लॉग पर विजिट करते रहिये .

सीसीसी ऑनलाइन टेस्ट आप यहाँ से दे सकते है :- क्लिक हियर !


Wednesday, 10 April 2019

कंप्यूटर का वर्गीकरण(classification of computer in hindi)-Basic computer knowledge in hindi

computer जिसके बारे में आप बहुत अच्छे से जानते है की कंप्यूटर क्या है .लेकिन इस post में हम जानेंगे  कंप्यूटर का वर्गीकरण (classification of computer in hindi) के बारे में .कंप्यूटर को उनके  द्वारा किये जाने वाले तमाम प्रकार से किये गए कार्यो(work)  और उद्देश्यों(purpose) के आधार पर कई प्रकार से बिभाजित किया गया है .आज हम उसी के बारे में बात करेंगे .

https://www.wikigyani.in/2019/04/classification-of-computer-in-hindi.html

हम अपने इस ब्लॉग पर कंप्यूटर सामान्य जानकारी (Basic computer knowledge in hindi ) से रिलेटेड post करते रहते है .तो आप हमारे इस ब्लॉग पर डेली अवश्य विजिट करते रहे .

कंप्यूटर की वर्गीकरण(classification of computer in hindi) को मुखतः तीन वर्गों(type) में विभाजित किया गया है जो कि निम्नलिखित है :-
1.आकार के आधार पर (On The Basis Of Size )
2.उद्देश्य के आधार पर
3.अनुप्रयोग के आधार पर(On The Basis Of Applications)

1. कंप्यूटर की वर्गीकरण(classification of computer in hindi)

कंप्यूटर के वर्गीकरण(classification of computer in hindi) के बारे में जानने से पहले आपको यह जानना जरूरी है कि (what is compputer) कंप्यूटर क्या है .इसके बारे में मैंने एक पोस्ट लिखा हुआ है आप जाकर पहले वह Post पढ़ लीजिए और computer के बारे में सारी जानकारी हासिल कर लीजिए. 

जैसे-जैसे आदमियों(Humans) की संख्या बढ़ती जा रही है उसी प्रकार पहले कंप्यूटर(संगणक ) की संख्या कम थी और कंप्यूटर के प्रकार भी कम थे लेकिन बढ़ती हुई जनसंख्या की तरह कंप्यूटर की संख्या(Number Of Computers) में भी बढ़ोतरी होने लगी और 


उनके प्रकार भी काफी बदलने लगे. इसी को देखते हुए कंप्यूटरों को अलग- अलग उद्देश्य(Purpose), काम(work), और साइज(size) के आधार पर उनमें वर्गीकरण कर दिया गया जिनकी बारे में आइए देखते हैं.

कंप्यूटर को तीन वर्गों(Three Class Of Computers) में बांटा गया है जो कि निम्नलिखित है.

1. आकार(size) के आधार पर कंप्यूटर का वर्गीकरण(classification of computer on the basis of Size):-

अपने आस-पड़ोस में आप देखते ही होंगे कि कोई आदमी छोटा(small) कोई आदमी बड़ा(big) होता है और उनका वर्ग(class) भी है जो आदमी ज्यादा लंबे होते हैं उन आदमियों को लंबा आदमी कहां जाता है और जो

काफी छोटे होते हैं उन्हें छोटा आदमी कहा जाता है यह तो एक सिंपल example हुआ आप को समझाने का की कंप्यूटर को भी इसी प्रकार से कई वर्गों में रखा गया है जो कंप्यूटर बड़े होते थे उनको किसी दूसरे वर्ग  में रखा गया है.


और जो कंप्यूटर काफी छोटे होते थे उनको किसी दूसरे बारे में रखा गया है लेकिन इस blog में हम बात करने वाले हैं आकार के आधार पर कंप्यूटर के वर्गीकरण के बारे में. आकार के आधार(classification of computer on the basis of Size in hindi) पर कंप्यूटर को चार प्रकार से विभाजित किया गया है. 


1. माइक्रो कंप्यूटर(micro computer) 
2. मिनी कंप्यूटर (mini computer)
3. मेनफ्रेम कंप्यूटर (mainframe computer )
4. सुपर कंप्यूटर (super computer)

1. माइक्रो कंप्यूटर के बारे में(what is micro computer in hindi) 

साल 1970 ई. में टेक्नोलॉजी की क्षेत्र में जानी मानी कंपनी इंटेल(intel) द्वारा माइक्रोप्रोसेसर(micro processor) का आविष्कार हुआ, इंटेल द्वारा बनाए गए माइक्रो प्रोसेसर(micro processor) के मार्केट में आने से

टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में काफी विकास हुआ इन माइक्रोप्रोसेसर(micro processor) के प्रयोग से कंप्यूटर प्रणाली काफी हद तक सस्ती हो गई.micro computer की श्रेणी में आने वाले कंप्यूटर इतने छोटे होते थे कि इन्हें हम


अपनी Desk पर भी रखकर उपयोग कर सकते थे.आज के समय में जो कंप्यूटर में उपयोग करते हैं वह भी माइक्रो कंप्यूटर की श्रेणी में आते हैं.माइक्रो कंप्यूटर का उपयोग मुख्य व्यवसाय या चिकित्सा के क्षेत्र में किया जाता है.माइक्रो कंप्यूटर के उदाहरण कुछ इस प्रकार है:- iMac,IBM PS/2,APPLE MAC इत्यादि .

माइक्रो कंप्यूटर(micro computer) कई प्रकार के होते हैं जिनके बारे में एक-एक करके हम नीचे बात करने वाले हैं.

1. डेस्कटॉप कंप्यूटर(Desktop Computer):-
आपने अपने डेस्क पर रख कर computer तो बहुत बार ही चलाया होगा और आज आप अपने हाथ में भी लेकर  computer चलाते हैं जो कि मोबाइल है हां मोबाइल को भी कंप्यूटर कह सकते हैं. जो पहले की कंप्यूटर होते थे

जिन्हें आप अपने डेस्क पर रखकर चलाते थे .उन्हें ही डेस्कटॉप  कंप्यूटर कहते हैं desktop computer ज्यादातर व्यापारिक कार्यों में ही उपयोग में लाए जाते हैं और यह सबसे ज्यादा प्रयोग में लाए जाते हैं. सबसे अधिक प्रयोग में लाए जाने का इनका कारण यह है कि यह सस्ते(Cheap) और टिकाऊ(Durable) होते हैं.

2. लैपटॉप(laptop):- 
लैपटॉप शब्द से आप जरूर परिचित होंगे .1981 ई. में एडम ओसबोर्न ने लैपटॉप का आविष्कार किया था.तकनीक(Technology) ने हमारे कंप्यूटर जो कि हम अपने डेस्क पर रखकर चलाते है. उसको ऐसा रूप दे


दिया है अब हम उसे डेस्क(table) पर रखकर चला सकते हैं और जहां चाहे वह लेकर भी जा सकते हैं जोकि डेस्कटॉप का आधुनिक रूप लैपटॉप(Laptop) है.

3.टैबलेट (Tablet):-
लैपटॉप(Laptop) का छोटा रूप है टेबलेट. टेबलेट उपयोग करने में लैपटॉप(Laptop) और डेस्कटॉप(Desktop) दोनों से ही बेहतर होते हैं क्योंकि हम इन्हें अपने हाथ में लेकर चला सकते हैं.और जहाँ चाहे लेकर जा सकते है

और जहा चाहे use कर सकते है .टेबलेट Reachargable होते है .इन्हें हम एक बार चार्ज कर के घंटो तक use में ले सकते है .

2. मिनी कंप्यूटर के बारे में (what is mini computer in hindi)

मध्यम आकार के इन कंप्यूटरों की कार्य क्षमता और कीमत दोनों ही माइक्रो कंप्यूटर की तुलना में अधिक होती है जिस कारण यह व्यक्तिगत प्रयोग में नहीं लाए जाते है . इनका उपयोग प्रायः छोटी कंपनियां करती हैं. मिनी कंप्यूटर की गति 10 से 30 (MIPS) मेगा इंस्ट्रक्शंस पर सेकंड होती है. मिनी कंप्यूटर के अंतर्गत आने वाले कुछ कंप्यूटर निम्नलिखित :- HP 9000,RISC 6000,BULL HN-DPX2 और AS 400.

3. मेनफ्रेम कंप्यूटर के बारे में(what is mainframe computer in hindi)

इन computers को सायद आपने कभी भी न देखा हो .हा ,लेकिन आप इन्हें नीचे दी गयी image में देखकर अंदाजा लगा सकते है यह कंप्यूटर कैसे होते थे .

यह कंप्यूटर size में बहुत ही  बड़े होते हैं यह कंप्यूटर कार्य क्षमता और कीमत में भी मिनी और माइक्रो कंप्यूटर से अधिक होते हैं. अतः बड़ी - बड़ी कंपनियों  में एक केंद्रीय कंप्यूटर(Main computer) के रूप में इनका प्रयोग होता है.


मेनफ्रेम कंप्यूटर को एक्सेस(access) करने के लिए उपयोगकर्ता प्रायः नोड(Node) का इस्तेमाल करते हैं. अधिकतर कंपनियों में मेनफ्रेम कंप्यूटर(MainFrame Computer) का उपयोग बिल का ब्यौरा रखने ,विलो को भेजने ,Labours का भुगतान करने ,

आदि कार्यो  में किया जाता है .मेनफ़्रेम कंप्यूटर(MainFrame Computer) के उदाहरण निम्नलिखित हैं:- CDS-CYBER,IBM 4381,ICL 39,UNIVAC-1110 आदि.


3. सुपर कंप्यूटर के बारे में(what is super computer in hindi)

भरत में भी आज कल super computers की खोज होने लगी है .हाल ही में वर्तमान प्रधानमंत्री (माननीय नरेन्द्र मोदी) ने BHU में "परम शिवाय " नामक super कंप्यूटर का लोकार्पण किया .

सुपर कंप्यूटर(super computer) सर्वाधिक गति,संग्रह क्षमता एवं उच्च विस्तार वाले होते हैं.इनका आकार(size) एक सामान्य कमरे के बराबर होता है. विश्व का प्रथम सुपर कंप्यूटर 'क्रे रिसर्च' कंपनी द्वारा 1976 विकसित किया गया था.जिसका नाम ''क्रे - 1" था.


भारत के पास भी सुपरकंप्यूटर है तथा भारत के प्रथम सुपर कंप्यूटर का नाम 'परम' है .इसका विकास "C-DAC " ने किया था, इसका विकसित रूप 'परम 10000" भी अब तैयार कर लिया गया है.

सुपर कंप्यूटर का मुख्य उपयोग मौसम की भविष्यवाणी करने एनिमेशन(Animation) तथा चलचित्र(Video) का निर्माण करने अंतरिक्ष यात्रा के लिए अंतरिक्ष यात्री को अंतरिक्ष में भेजने और शोध प्रयोगशालाओं में शोध व 
खोज(Research) करने इत्यादि कार्यों में किया जाता है.सुपर कंप्यूटर के अंतर्गत आने वाले मुख्य कंप्यूटर इस प्रकार हैं:- PARAM,PARAM-10000,CRAY-2,NEC-500 आदि


2. उद्देश्य के आधार पर कंप्यूटर का वर्गीकरण(classification of computer on the basis of Puspose)

उद्देश्य के आधार (On the basis of Purpose) पर कंप्यूटर दो प्रकार के होते हैं जिन का संक्षिप्त विवरण निम्नलिखित है

1.सामान्य उद्देशीय कंप्यूटर(General Purpose Computer):-

हम जितने भी इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स उसे करते है .अपने डेली के कामो को आसान बनाने के लिए चाहे वह mobile हो या laptop हो या आप घडी का प्रयोग भी करते है.तो ये सभी गैजेट जो हमारे रोजाना किये जाने वाले शादारण कार्यो में हमारी मदद करते है general purpose कंप्यूटर कहलाते है .

 इनके द्वारा दस्तावेज(File) तैयार करने उन्हें छापने ,डेटाबेस बनाने ,तथा शब्द प्रक्रिया द्वारा पत्र तैयार करने इत्यादि सामान्य कार्य किए जाते हैं.

2. विशिष्ट उद्देशीय कंप्यूटर(Special Purpose computer):- 

ऐसे कंप्यूटर जिनका प्रयोग सिर्फ एक स्पेशल काम के लिए किया जाता है .ये सभी computers Special Purpose computer के अंतर्गत आते है .

इनका उपयोग अंतरिक्ष विज्ञान(Meteorology),  यातायात नियंत्रण(Traffic), कृषि विज्ञान इंजीनियरिंग(Agriculture engineering), की तथा रासायनिक विज्ञान में शोध क्षेत्र(research) में विशेष उद्देश्य के

लिए किया जाता है, इस में प्रयोग किए गए CPU की क्षमता अधिक होती है, जिस कारण विशिष्ट उद्देश्य की पूर्ति होती है.

3. अनुप्रयोग के आधार पर कंप्यूटर का वर्गीकरण(classification of computer on the basis of Applications):-

अनुप्रयोग के आधार(on the basis of Applications) पर तीन प्रकार के होते हैं जिनका संक्षिप्त विवरण निम्नलिखित है

1. एनालॉग कंप्यूटर के बारे में (what is Analog Computer in hindi)

पहले के समय में जो आप सुई वाली घडी का उपयोग करते थे .और अभी भी करते है ये Analog computer के अंतर्गत आती है.

भौतिक मात्राओं ताप(temprature), दाब(Pressure) इत्यादि को माप कर उनके परिणाम को अंको में प्रस्तुत करने के लिए एनालॉग कंप्यूटर का प्रयोग किया जाता है.इसके उदाहरण है . स्पीडोमीटर, भूकंप सूचक यंत्र..आदि.

2. डिजिटल कंप्यूटर के बारे में (what is Digital computer in hindi)

ये एक उदहारण के तौर पे लेते है पहले आप सुई वाली घडी use करते थे तो वो एनालॉग के अंतर्गत आती थी और अब आप screen वाली घड़ी use करने लगे है .screen वाली घड़ियाँ डिजिटल कंप्यूटर के अंतर्गत आती है .

अंको की गणना करने के लिए डिजिटल कंप्यूटर(Digital computer) का प्रयोग किया जाता है. आज के समय में  प्रयोग किये जाने वाले ज्यादातर कंप्यूटर डिजिटल कंप्यूटर की श्रेणी में ही आते हैं.  इसके उदाहरण है डेस्कटॉप कंप्यूटर और लैपटॉप कंप्यूटर...आदि.

3.हाइब्रिड कंप्यूटर के बारे में (what is Hybrid computer in hindi )

उदहारण के तौर पर ले तो अब अगर आप सुई वाली और screen वाली दोनों को मिलकर एक घडी बना दे जिससे की दोनों तरह से हम समय को देख सके तो इस प्रकार की devices Hybrid Computer के अंतर्गत आती है .

हाइब्रिड कंप्यूटर(Hybrid Computer) उन computer को कहा जाता है. जिसमें Analog तथा Digital दोनों ही गुण सम्मिलित हो.

इनके द्वारा भौतिक मात्राओं को अंकों में परिवर्तित करके उसे डिजिटल(DIgital) रूप में ले आते हैं. चिकित्सा के क्षेत्र में इसका सर्वाधिक उपयोग होता है इसके उदाहरण है- ईसीजी(ECG) और डायलिसिस मशीन.


सारांश :- आज हमने इस post में कंप्यूटर का वर्गीकरण(classification of computer in hindi) के बारे में पढ़ा.हमने कंप्यूटर से रिलेटेड Basic computer knowledge in hindi के बहुत सरे post किये हुए है उन्हें आप जाकर पढ़ लीजिये .

विडियो :- कंप्यूटर का वर्गीकरण(classification of computer in hindi)-Basic computer knowledge in hindi  से रिलेटेड इस विडियो को देख कर आप इसको और अच्छे से समझ सकते है .





➦Other Computer Basic Knowledge in Hindi


Sunday, 7 April 2019

Quora क्या है.Quora से पैसे कैसे कमाते है(earn money with Quora Partner Program)

Quora के बारे में आप लोग अवश्य जानते होंगे Google पर जब भी आप कुछ क्वेश्चन सर्च करते हैं तो वह क्वेश्चन का आंसर आपको Quora के माध्यम से कहीं ना कहीं रैंक(Index) हुआ जरूर मिलता है अभी तक इस website पर लगभग सभी प्रकार के क्वेश्चन(questions) का आंसर मौजूद है और जिन क्वेश्चंस(questions) का आंसर(answer) यहाँ पर नहीं मौजूद है आने वाले समय में सभी क्वेश्चंस यहाँ पर मौजूद हो जाएंगे क्योंकि यह website आने वाले time में बहुत आगे बढ़ने वाला है. तो आईये जान ही ले की की Quora क्या है और Quora से पैसा कैसे कमाते हैं(how to earn money from Quora).


https://www.wikigyani.in/2019/04/Quora-se-paise-kaise-kamate-hai.html



yahoo questions को पीछे छोड़ कर Quora क्वेश्चन आंसर वाली साइट के लिस्ट में नंबर वन पर है आने वाले समय में क्योरा बहुत आगे जाने वाला है और या सबको पीछे छोड़ सकता है. हाल ही में इसने Quora  Partner

Program लांच किया है जिसकी मदद से आप इस पर क्वेश्चन आंसर के द्वारा पैसे कमा सकते हैं. इस  partner Program के माध्यम से आप पैसे कब क्यों कैसे कमा सकते हैं इसके बारे में जानने  के लिए आगे पोस्ट को पढ़ते रहिए.

Quora क्या है .Quora से पैसे कैसे कमाते है .(how to earn money from Quora)

जब भी आप गूगल पर कभी अपने क्वेश्चन(question) को सर्च(search) करते हैं तो हो सकता है कभी क्वेश्चंस ऐसे होते हैं जो कि आपको गूगल के माध्यम से ना मिल पाए but यहाँ पर कभी कभी मिल जाता  हैं. और ऐसा भी 

नहीं हो सकता कि वह क्वेश्चंस(questions) आपको गूगल पर ना मिले क्योंकि गूगल  इससे भी एडवांस(advance) है यह  गूगल के मदद से ही रैंक होता है.



लेकिन कभी-कभी ऐसा हो जाता है. कि हमें अपने क्वेश्चन का आंसर गूगल(google) पर नहीं मिलता तो हम ऐसे क्वेश्चन(question) को इसके  माध्यम से पूछ सकते हैं क्योरा पर क्वेश्चन पूछना बहुत ही आसान है इसके लिए आपको 

सबसे पहले क्योरा पर जाना होगा उसके बाद क्योरा में लॉगइन करना होगा फिर आप वहां पर ADD Questions पर क्लिक करके आसानी से अपने क्वेश्चन को ऐड कर सकते हैं प्रश्न(question) को add करने के बाद  आप का उत्तर जल्द ही पा जायेंगे. 
और हां ध्यान देने वाली बात यह भी है कि अगर आप डेली Quora पर जुड़े रहते हैं और आप रोजाना different क्वेश्चंस जोड़ते रहते हैं तो अब आप quora पर क्वेश्चन पूछने और answer देने  के पैसे भी कमा(earn) सकते हैं.


Quora से पैसे कैसे कमाते है .(how to earn money from Quora)

क्योरा ने अभी हाल ही में एक प्रोग्राम लांच किया है जिसका नाम है Quora Partner Program जहां पर आप क्वेश्चन पूछ कर पैसे कमा सकते हैं यहां आप क्वेश्चन पूछेंगे उसके बाद क्योरा ने  अपना कुछ एल्गोरिदम 

बनाया हुआ है जिसके अनुसार वह आपको ईमेल भेजेगा कि अब आप Quora Partner Program  को Join  कर पैसे कमा सकते हैं हालांकि अभी तक निश्चित नहीं हुआ है कि Quora यह मैसेज किस Base पर भेजता है मै 
आपको  सजेस्ट करूंगा कि आप यहाँ  पर जुड़े रहे और अपने क्वेश्चन पूछते रहें क्या पता आपको क्योरा मैसेज कर दे कि अब आप Quora Partner Program में जुड़ सकते हैं अगर आपको यह मैसेज(message) आ जाए तो अब  आप खुश हो जाइए अब आप Quora से क्वेश्चन पूछ कर पैसे कमा सकते हैं.

लेकिन यह जो भी बातें मैंने अभी आपको बताई हैं इन सबसे पहले आपको जानना पड़ेगा की Quora पर अकाउंट कैसे बनाते है . अपनी प्रोफाइल को बहुत बढ़िया (good looking) तरह से बनाना पड़ेगा यह सब सीखने के लिए आपको नीचे पोस्ट को पूरा पढ़ना पड़ेगा तो मैं आपको चलिए  बताता हूं कि क्योरा  पर अपना प्रोफाइल(Profile) कैसे बनाएं और Quora Partner Program से पैसे कैसे कमाए(how to earn money from Quora in hindi) .

Quora पर अपना अकाउंट कैसे बनाते है .

निम्नलिखित स्टेप्स फॉलो करे.

  • Open Quora.com 
सबसे पहले आपको www.quora.com  वेबसाइट पर जाना है.


 अब आपको यहाँ पर लॉग इन(Log in) करना पड़ेगा लॉगइन करने के लिए आपको अपना ईमेल आईडी और उसका पासवर्ड(password) डालना पड़ेगा . आप अपना कोई भी ईमेल आईडी (Email)और उसका पासवर्ड(Password) दे सकते हैं.

अब यहां पर अगर आपने कभी क्योरा पर अकाउंट(Account) बनाया होगा इस ईमेल आईडी(Email ID) से तो आप Login हो  जाएंगे नहीं तो नीचे आपको साइन अप(Sign UP) बटन मिल जाएगा तो आप साइन अप बटन(button) पर क्लिक(click) कर लीजिए उसके बाद नीचे दिया गया इंटरफ़ेस आपको प्राप्त हो जाएगा यहां पर आप अपनी सारी डिटेल फील करके साइन अप कर सकते हैं.

अगर आप sign up  कर चुके है तो आप लॉग इन button पर क्लिक करके डिटेल्स फिल करके लॉग इन कर सकते है .

https://www.wikigyani.in/2019/04/Quora-se-paise-kaise-kamate-hai.html


congratulation आपने अपना कुओरा अकाउंट क्रिएट कर लिया है .अब यहाँ पर आप अपने profile सेटिंग में जाकर अपने profile को जितना अच्छा बना सकते है बना लीजिये क्या पता आपके profile को ही देख कर कुओरा आपको partner प्रोग्राम का अप्प्रोवेल दे दे.



अब अगर आप कुओरा से पैसे कमाना चाहते है तो उसके लिए आपके पास Quora partner प्रोग्राम का अकाउंट होना चाहिए जोकि आपको तभी मिलेगा जब आप क्योरा पर अच्छा काम करेंगे क्योरा partner प्रोग्राम का हिस्सा बनने  के लिए कुछ खाश बाते आईये जानते है .


Quora Partner Program में हिस्सा कैसे ले 

अब सबसे  मुख्या(important) बात है ये आपके लिए quora से पैसे कमाने के लिए इसके अकाउंट होना आपके लिए बहुत ही जरूरी है .यह अकाउंट आपको तभी मिलेगा जब कुओरा आपको खुद मेसेज(message) करेगा की अब आप हमसे Quora partner प्रोग्राम में हिस्सा लेने के लिए जुड़ सकते है .हा अभी तक कुओरा ने कुछ क्लियर नहीं किया है की कुओरा यह मौका किन्हें दे रहा है .

लेकिन जब भी quora को लगेगा की आप अच्छा  काम कर रहे  है और आपके visiters भी बहुत सारे हैं तो वह आपको Quora Partner Programm  का हिस्सा जरूर बनाएगा.

सारांश :- आशा करता हूं इस ब्लॉग को पढ़ने के बाद आप Quora पर काम करना प्रारंभ कर देंगे क्योंकि दोस्तों आपको पता होगा कि हमें पैसा एक दिन में नहीं मिलता अगर आप पैसा कमाना चाहते हैं तो आपको Quora पर 

Daily काम करना पड़ेगा जिसके Quora को भी लगेगा कि यह यूजर हमारी वेबसाइट पर DAILY विजिट कर रहा है डेली  काम कर रहा है , क्वेश्चंस कर रहा है तो वह आपको पैसा कमाने के लिए partner प्रोग्राम ज्वाइन करने का  मौका  देंगे अगर 

आपको ये मौका मिल जाता है तो आप अपनी पढ़ाई करते हुए भी पढ़ाई से जुड़े प्रश्न पूछ कर और उसका आंसर देकर पैसे कमा सकते हैं.Quora से पैसे कैसे कमाते है 

विडियो :- earn money with Quora Partner Program के बारे में अधिक जानने के लिए ये विडियो देखे :-





Read Also:-


Sunday, 31 March 2019

कंप्यूटर की पीढ़ियाँ (Generation Of Computer In Hindi)

आज हम इस पोस्ट में जानने वाले हैं कंप्यूटर जेनरेशन(Generation Of Computer In Hindi) के बारे में आखिर कैसे कंप्यूटर का विकास हुआ और कैसे कंप्यूटर की पीढियों में विकास हुआ आज सभी बातें इस पोस्ट में जानेंगे .

द्वितीय विश्व युद्ध के बाद कंप्यूटरों का विकास बहुत तेजी से लगातार हुआ और उनके आकार प्रकार में भी बहुत अधिक परिवर्तन हुआ आज जो कंप्यूटर हम प्रयोग करते हैं उस कंप्यूटर के विकास के इतिहास को तकनीकी विकास के अनुसार कई भागों में बांटा गया है जिन्हें कंप्यूटर की पीढ़ी या कंप्यूटर जेनरेशन(Generation Of Computer In Hindi) कहा जाता है .

https://www.wikigyani.in/2019/03/generation-of-computer-in-hindi.html


कंप्यूटर की पीढ़ियाँ (Generation Of Computer In Hindi)

आज हम जो कंप्यूटर का प्रयोग करते हैं वह कंप्यूटर पांचवी पीढ़ी का कंप्यूटर है .इस कंप्यूटर के पहले भी कंप्यूटर की 4 पीढ़ियां है तो चलिए उनके बारे में भी विस्तार से जानते हैं. 

1.कंप्यूटर की प्रथम पीढ़ी(First Generation Of computer)- 1940-1956ई. 

कंप्यूटर की प्रथम पीढ़ी का प्रारंभ सन 1946 में जे पी एकर्ट और जॉन मोचली ने ENIAC(Electronic numerical integrator and computer) नामक कंप्यूटर के निर्माण से किया था. फर्स्ट जेनरेशन के कंप्यूटर में

 वैक्यूम ट्यूब का प्रयोग किया जाता था. इन Vaccum tubes  का आविष्कार सन 1904ई.  में जान एंब्रोस फ्लेमिंग ने किया था ENIAC को छोड़कर और भी बहुत सारे कंप्यूटर फर्स्ट पीढ़ी में तैयार किए गए थे जिनके

 नाम है EDSEC(Electronic delay storage automatic calculator), EDVAC (electronic discrete variable automatic computer) , UNIVAC  (Universal automatic computer) और UNIVAC -1 .

फर्स्ट जनरेशन की कंप्यूटर की विशेषताएं:- 

1.स्टोरेज के लिए मैग्नेटिक ड्रम का प्रयोग किया जाता था.
2.बैच ऑपरेटिंग सिस्टम का प्रयोग किया जाता था.
3.स्पीड 333 माइक्रो सेकंड थी. 
4.बायनरी नंबर 0 और 1 का प्रयोग किया जाता था .
5. सीमित मुख्य भंडारण क्षमता थी. 

फर्स्ट जेनरेशन कंप्यूटर का उपयोग 


1.फर्स्ट जनरेशन कंप्यूटर का मुख्य उपयोग वैज्ञानिक स्तर पर और  बाद में सामान व्यापार सिस्टम में किया जाता था.


2.कंप्यूटर की द्वितीय पीढ़ी(second Generation Of computer)- 1956-1963ई. 

कंप्यूटर की फर्स्ट जनरेशन के बाद सन 1956ई. में vaccum tubes की जगह transistor का प्रयोग करके एक नया कंप्यूटर बनाया गया .transistor का आविष्कार विल्लियम शाकले (william shockley) ने १९४७ ई. में

किया था.इस transistor का प्रयोग द्वितीय पीढ़ी के computers में vaccum tubes के स्थान पर किया जाने लगा .second जनरेशन के computers में transistors के प्रयोग के बाद computers के speed में बढ़ोत्तरी हुई

और उनके आकार में सुधार हुआ .इस पीढ़ी के computers प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर से आकर में छोटे और अधिक शक्तिशाली थे .इनमे पहले के मुताबिक कम उर्जा की खपत होती थी .

सेकंड  जनरेशन की कंप्यूटर की विशेषताएं:- 

1. storage के लिए मैग्नेटिक core टेक्नोलॉजी का प्रयोग किया जाता था .
2. speed 10 माइक्रो second थी जोकि फर्स्ट जनरेशन के कंप्यूटर से काफी हद तक बढ़िया थी .
3. vaccum tube की जगह पर transistor का प्रयोग हुआ .जिससे की आकार और speed दोनों में सुधर हुआ .
4. multi bag, रेमैनिंग ,टाइम शेयरिंग ऑपरेटिंग सिस्टम्स का प्रयोग किया जाता था .
5. second जनरेशन के कंप्यूटर में असेंबली भाषा का प्रयोग किया जाता था .

सेकंड जेनरेशन कंप्यूटर का उपयोग :-

1. ब्यापक ब्याशायिक क्षेत्र में प्रोयोग किया जाता था .
2. इंजीनियरिंग डिजाइनिंग में भी प्रयोग किया जाता था .

3.कंप्यूटर की तृतीय पीढ़ी(third Generation Of computer)- 1964-1971ई. 

तृतीय पीढ़ी के कंप्यूटर में इंटीग्रेटेड सर्किट का प्रयोग होने लगा था. जिससे कि कंप्यूटर सेकंड पीढ़ी के कंप्यूटर से और भी शक्तिशाली होने लगे थे. आईसी जिसे हम इंटीग्रेटेड सर्किट के नाम से जानते हैं का आविष्कार जैक

किल्बी ने किया था जोकि टेक्सास इंस्ट्रूमेंट कंपनी के अभियंता थे. कंप्यूटर के तृतीय पीढ़ी की शुरुआत सन 1964 ईस्वी में हुई इस पीढ़ी के कंप्यूटर ICL2903 ,ICL 1900, यूनीवैक 1108 और सिस्टम 1360 प्रमुख थे.

तृतीय पीढ़ी के कंप्यूटर में फोर्ट्रन और कोबोल भाषाओं का प्रयोग होता था. इन कंप्यूटर की गति 100 नैनो सेकंड थे. यह कंप्यूटर सेकंड पीढ़ी के कंप्यूटर से आकार में छोटे और गति में बहुत अधिक थे. इन कंप्यूटर्स में प्रथम और द्वितीय श्रेणी के कंप्यूटर की तुलना में कम बिजली की खपत होती थी.



थर्ड जनरेशन की कंप्यूटर की विशेषताएं:- 

1. इनमें इंटीग्रेटेड सर्किट का प्रयोग होता था. जो कि ट्रांजिस्टर से शक्तिशाली होते थे. 
2. इनमें स्टोरेज के लिए मैग्नेटिक कोर का प्रयोग किया जाता था. 
3. इस पीढ़ी के कंप्यूटर की स्पीड 100 नैनो सेकंड थी, 
4, इस पीढ़ी के कंप्यूटर में फोर्ट्रन और कोबोल जैसी भाषाओं का प्रयोग किया जाता था 
5. इन कंप्यूटर में इनपुट और आउटपुट को नियंत्रित करने के लिए सॉफ्टवेयर उपलब्ध थे. 

third  जेनरेशन कंप्यूटर का उपयोग 

थर्ड जेनरेशन के कंप्यूटर का उपयोग डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम, ऑनलाइन सिस्टम, रिजर्वेशन सिस्टम अधिकारियों में किया जाता था.

4 .कंप्यूटर की चतुर्थ  पीढ़ी(fourth Generation Of computer)- 1971-1985ई.

प्रथम पीढ़ी, द्वितीय पीढ़ी, तृतीय पीढ़ी इन सभी पीढ़ियों को पीछे छोड़ कर चतुर्थ पीढ़ी के कंप्यूटर का आविष्कार हुआ इन कंप्यूटर के आविष्कार की शुरुआत सन 1971 से प्रारंभ हुई इस कंप्यूटर में बड़े पैमाने पर

 इंटीग्रेटेड सर्किट और माइक्रोप्रोसेसर प्रयोग में लाए जाते थे इस कंप्यूटर फोर्ट्रन 77, पास्कल, एडीए, कोबोल 74 आदि भाषाओं का प्रयोग किया जाता था.जैसे :- IBM ,PC-XT,एप्पल II ,इंटेल 4004,  

फोर्थ जनरेशन की कंप्यूटर की विशेषताएं:- 
1. फोर्स जेनरेशन के कंप्यूटर में बड़े पैमाने पर इंटीग्रेटेड सर्किट और माइक्रो प्रोसेसर प्रयोग किए जाते थे
2. इन कंप्यूटर की स्पीड 300 नैनो सेकंड थी
3. इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर, व्यावसायिक उत्पादन और व्यक्तिगत उपयोग


5. कंप्यूटर की पांचवी  पीढ़ी(fifth Generation Of computer)- 1985 - अब तक

कंप्यूटर के फिफ्थ जेनरेशन की शुरुआत 1985 ईस्वी से प्रारंभ हुई 1985 से लेकर अब तक जितने भी कंप्यूटर बने हैं सब पांचवीं पीढ़ी के अंतर्गत आते हैं पांचवी पीढ़ी में कंप्यूटर वर्तमान के और आगे आने वाले कंप्यूटर तक

 को शामिल किया गया है पांचवीं पीढ़ी के कंप्यूटर को वैज्ञानिक AI के मद्देनजर विकसित करने के नए-नए तरीके विकसित करते हैं. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का प्रयोग करके बनाए गए कंप्यूटर इतने उन्नत किस्म के होते हैं की यह कंप्यूटर खुद ब खुद समझ जाते है कि उन्हें करना क्या है. 

अतः आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस वाले कंप्यूटर का आकार भी काफी छोटा होता जा रहा है. अतः इस पीढ़ी के कंप्यूटर अभी आगे आते रहेंगे


फिफ्थ जनरेशन की कंप्यूटर की विशेषताएं:- 
1.इस जनरेसन के कंप्यूटर में हम इंटरनेट चला सकते हैं .
2.इस जनरेशन के कंप्यूटर के प्रमुख उदाहरण डेस्कटॉप, लैपटॉप , मोबाइल,,, टेबलेट,,,, इत्यादि है.

2. कंप्यूटर की पीढ़ी से रिलेटेड कुछ इंपोर्टेंट क्वेश्चंस 


1.प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर में क्या प्रयोग किया जाता था :- वेक्यूम ट्यूब
2.द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटर में क्या प्रयोग किया जाता था :-ट्रांजिस्टर
3. तृतीय पीढ़ी के कंप्यूटर में क्या प्रयोग किया जाता था :- इंटीग्रेटेड सर्किट
4.चतुर्थ पीढ़ी के कंप्यूटर में क्या प्रयोग किया जाता था :- बड़े पैमाने पर इंटीग्रेटेड सर्किट/ माइक्रोप्रोसेसर
5. प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर किस वर्ष में विकसित हुए :- 1940-56
6.द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटर किस वर्ष में विकसित हुए :- 1956-63
7. तृतीय पीढ़ी के कंप्यूटर के विकसित हुए : 1964 से 1971
8. प्रथम पीढ़ी के अंतर्गत कौन से कंप्यूटर आते हैं :- ENIAC,UNIVAC,MARK-1
9. तृतीय पीढ़ी के अंतर्गत कौन से कंप्यूटर आते हैं :-  IBM ,System /360 ,B6500



सारांश :- आपने आज इस पोस्ट में बढ़ा कंप्यूटर जेनरेशन जेनरेशन आफ कंप्यूटर इन हिंदी के बारे में इस post में हमने बात की फर्स्ट जनरेशन ऑफ कंप्यूटर, सेकंड जेनरेशन ऑफ कंप्यूटर, थर्ड जनरेशन ऑफ कंप्यूटर,

फोर्थ जनरेशन ऑफ कंप्यूटर, फिफ्थ जेनरेशन आफ कंप्यूटर के बारे में, और हमने इन टॉपिक पर पूछे जाने वाले कुछ महत्वपूर्ण क्वेश्चन का भी डिस्कशन किया है. जो कि आपके लिए आपके एग्जाम के लिए बहुत ही

महत्वपूर्ण हैं. मैं आशा करता हूं कि आपको कंप्यूटर की पीढ़ियां का यह पोस्ट पसंद आया होगा. ऐसे ही हमने कंप्यूटर पर बहुत सारे पोस्ट लिखे हुए हैं अगर आप कंप्यूटर के बारे में अधिक जानकारी चाहते हैं तो हमारे इस

ब्लॉग पर विजिट करके आप आसानी से पढ़ सकते हैं. दोस्तों खास करके हम अपने पोस्ट पर ट्रिपल सी एग्जाम से रिलेटेड पोस्ट लिखते हैं. अगर आप किसी का एग्जाम देना चाहते हैं तो आप हमारे द्वारा बनाए गए ट्रिपल सी ऑनलाइन टेस्ट को भी ट्राई कर सकते हैं.

TIPS:- ट्रिपल सी ऑनलाइन टेस्ट देने के लिए. अगर आप ट्रिपल सी एग्जाम देने के लिए तैयारी कर रहे हैं तो आपके लिए सबसे ज्यादा जरूरी हो जाता है की रोजाना ट्रिपल सी का ऑनलाइन टेस्ट प्रैक्टिस करें जिससे कि

आपको एग्जाम में अच्छे नंबर लाने में मदद मिलेगी. और आपके कंप्यूटर से रिलेटेड छोटे-छोटे क्वेश्चन भी क्लियर हो जाएंगे जो आपको कॉम्पिटेटिव एग्जाम्स में भी मदद करेंगे. अगर आप ट्रिपल सी ऑनलाइन टेस्ट देना चाहते हैं तो आप यहां से विजिट कर सकते हैं:-ccc online test








Read Also:
1.कंप्यूटर का इतिहास (History Of Computer In Hindi)
2. कंप्यूटर क्या है-Introduction Of Computer In Hindi
3. सीसीसी ऑनलाइन टेस्ट 50 सवाल जो हर बार पूछे जाते है
4. Ccc Online Test 50 सवाल के साथ
5. Ccc Online Test In Hindi (Ccc एग्जाम के लिए महत्वपूर्ण 

Saturday, 30 March 2019

कंप्यूटर का इतिहास (History Of Computer In Hindi)

आज हम जानने वाले हैं कंप्यूटर के इतिहास(History of computer in hindi) के बारे में हम जानेंगे कि कंप्यूटर कब, क्यों ,कैसे बना और कंप्यूटर को बनाने वाले कौन थे तो मैं आपको बताना चाहता हूं कंप्यूटर आज से लगभग 3000 वर्ष पुराना है आज जो आप कंप्यूटर देख रहे हैं वह पहले के कंप्यूटर से बहुत भिन्न है पहले जो

 कंप्यूटर होते थे वह इस तरह नहीं होते थे .पहले के कंप्यूटर सिर्फ बड़ी बड़ी संख्या का गणना करने के लिए बनाए गए थे. बड़ी-बड़ी संख्याओं का गणना करने के लिए पहले के कंप्यूटर बने थे लेकिन बहुत कठोर प्रयास के बाद आप जो कंप्यूटर आज यूज करते हैं वह कंप्यूटर बन पाया कंप्यूटर के बनने की इस प्रक्रिया में विभिन्न



प्रकार के प्रणालियों की उत्पत्ति हुई जैसे कि बेबीलोनियन प्रणाली, यूनानी प्रणाली, और रोमन प्रणाली और भारतीय प्रणाली मैं आपको बता दू इन में जितनी प्रणाली है सब पीछे छूट गए और भारतीय प्रणाली सबको पीछे छोड़ कर आगे निकल गई भारत के खगोल शास्त्री और गणितज्ञ आर्यभट्ट ने दशमलव प्रणाली का विकास किया था.

जो कंप्यूटर आप अपने सामने देख रहे हैं उसको आए सिर्फ 50 साल ही हुए हैं लेकिन इस कंप्यूटर के विकास का इतिहास बहुत पुराना है कंप्यूटर हमारे जीवन में हर पहलू पर किसी ना किसी तरह प्रयोग किया जाता है पिछले चार दशकों में कंप्यूटर ने हमारे जीने का तरीका ही बदल दिया है. तो आज हम इस पोस्ट के में जानेंगे कि कंप्यूटर का इतिहास(history of computer in hindi) और विकास क्या है.

कंप्यूटर का इतिहास(history of computer in hindi)

कंप्यूटर का इतिहास जहां से प्रारंभ हुआ और जहां तक वह चला पूरी जानकारी में आपको नीचे देने वाला हूं सबसे पहला कंप्यूटर कौन बना था और सबसे लास्ट कंप्यूटर जो आप अभी चला रहे हैं वह कौन सा कंप्यूटर है सारी जानकारी आपको नीचे दी जा रहे हैं.

1.अबेकस- 3000 वर्ष पूर्व:- सबसे पहला कंप्यूटर अबेकस को ही माना जाता है जिसे 3000 वर्ष पूर्व 16वीं शताब्दी में चीन के वैज्ञानिक ली काई चैन  द्वारा बनाया गया. अबेकस लकड़ी का एक आयताकार ढांचा होता

था जिसके अंदर तारों का फ्रेम लगा होता था और उस तार  के फ्रेम पर मोतिया लगी होती थी. तारों पर खीसका कर गणना की जाती थी आपने शायद अबेकस को अपने पास -पड़ोस में देखा होगा किसी स्कूल में पढने वाले बच्चे के पास .

अबेकस के कार्य:- अबेकस मुख्य रूप से जोड़ने घटाने के लिए प्रयोग किया जाता था कभी कभी इश्क अली के लिए भी किया जा सकता था.

अबेकस की विशेषताएं:-  अबेकस की विशेषताएं है कि अबेकस  सबसे पहला सरल यंत्र है जिसे हम पहला कंप्यूटर भी कहते हैं.

2. नेपियर बोंस- 1617 ई.:- 1617 ई. में नेपियर बोंस को बनाया गया यह जानवरों की हड्डियों से बने आयताकार पट्टी होती थी इस आयताकार पट्टियों पर 0 से लेकर 9 तक पहाड़े इस प्रकार लिखे  होते थे कि एक

 पट्टी के दहाई के अंक दूसरी पत्ती के इकाई के अंकों के पास आ जाते थे . नेपियर बोंस को स्कॉटलैंड के वैज्ञानिक जॉन नेपियर ने तैयार किया था.

जॉन नेपियर के कार्य:- जॉन नेपियर गणना अत्यंत शीघ्र पूर्वक करता था.और जॉन नेपियर द्वारा गुणात्मक परिणाम ग्राफिकल संरचना द्वारा दिखाया जाता था.


जॉन नेपियर की विशेषताएं:- जॉन नेपियर को raabdologiya भी कहते थे.

3.स्लाइड रूल- 1620ई.:- जर्मनी के वैज्ञानिक विलियम ऑटोरेड  द्वारा जॉन नेपियर को 1620 ई.  में बनाया गया इसमें दो प्रकार की चिन्हित किए हुए पटिया होती थी जिन्हें बराबर में रखकर आगे पीछे करके लघुगणक की क्रिया संपन्न होती थी .

स्लाइड रूल के कार्य:- स्लाइड रूल लघुगणक के आधार पर सरलता से गणना कर सकता था

4. पास्कलाइन- 1642ई.:- फ्रांस  के वैज्ञानिक ब्लेज पास्कल द्वारा 1642 ईसवी में पास्कलाइन को तैयार किया गया इस मशीन में कई गोलाकार और पुराने टेलीफोन की तरह घुमाने वाले डायलर होते थे जिन पर 0 - 9 तक संख्या अंकित होती थी जिनका प्रयोग गणना करने के लिए किया जाता था.

 पास्कलाइन के कार्य:- पास्कलाइन का मुख्य रूप से संख्याओं को जोड़ने घटाने के लिए प्रयोग किया जाता था

5. लेबनीज का यांत्रिक केलकुलेटर- 1671ई.:- 1671 ई. में जर्मनी के वैज्ञानिक को गोतफ्रेड वान लेबनीज द्वारा इस मशीन को तैयार किया गया. इस मशीन का प्रयोग आज के कार और स्कूटर के स्पीडोमीटर में किया जाता है.

लेबनीज यांत्रिक केलकुलेटर की विशेषताएं:- लेबनीज यांत्रिक केलकुलेटर को रिकॉर्डिंग मशीन ही कहते हैं.

6.जेकार्ड्स लूम:-फ्रांस के वैज्ञानिक जोसेफ मेरी जेकार्ड द्वारा 1801 ईसवी में जेकार्ड्स लूम लूम नामक मशीन बनाइ. यह एक ऐसी मशीन थी जिसमें बुनाई के डिजाइन डालने के लिए  छिद्र किये  हुए कार्ड का उपयोग किया जाता था.

जेकार्ड्स लूम के कार्य:- जेकार्ड्स लूम का प्रयोग कपड़े बुनने के लिए किया जाता था.

जेकार्ड्स लूम की विशेषताएं:- प्रथम मैकेनिकल लूम था.

7. डिफरेंस इंजन:-इंग्लैंड के वैज्ञानिक चार्ल्स wabbage  द्वारा 1822 में डिफरेंस इंजन का आविष्कार किया गया इस मशीन में साफ्ट और गियर  प्रयोग किए गए थे यह मशीन भाप द्वारा चलाई जाती थी.

8. एनालिटिकल इंजन:- वैज्ञानिकचार्ल्स wabbage  द्वारा 1833 ईसवी में इस मशीन का निर्माण किया गया यह  आधुनिक कंप्यूटर का शुरुआती प्रारूप है इस मशीन के 5 मुख्य भाग थे1. इनपुट इकाई 2.स्टोर  3. मिल 4. 4.कंट्रोल 5.आउटपुट इकाई.

एनालिटिकल इंजन की विशेषताएं :-यह एक मैकेनिकल मशीन था.

एनालिटिकल इंजन के कार्य:- इसका प्रयोग सभी गणितीय क्रियाओं को करने में किया जाता था.

9. टेबुलेटिंग मशीन:-अमेरिकी वैज्ञानिक हरमन होलेरिथ ने 1889 ई. में इस  मशीन का निर्माण किया इस  मशीन में पढ़ने का कार्य छेद किए हुए कार्ड द्वारा किया जाता था इस मशीन में एक समय में एक ही कार्ड को पढ़ा जाता था. 1896 में होलेरिथ में tabulating मशीन कंपनी की स्थापना की जो पंचकार्ड  यंत्र का उत्पादन करती थी आगे चलकर इस  कंपनी का नाम इंटरनेशनल बिजनेस machine कर दिया गया.

 टेबुलेटिंग मशीन की विशेषताएं :- टेबुलेटिंग मशीन का प्रयोग जनगणना में किया गया..

10. मार्क 1:-अमेरिकी वैज्ञानिक हावर्ड आइकन ने 1944 ईसवी में विश्व का प्रथम पूर्ण स्वचालित विद्युत यांत्रिक गणना यंत्र का आविष्कार किया जिसे मार्क 1 के नाम से जानते हैं मार्क 1 मशीन में इंटरलॉकिंग पैनल के छोटे गियर्स , काउंटर, स्विच और नियंत्रण सर्किट होते थे.

मार्क 1 की विशेषताएं:-मार्क 1 में डाटा मैनुअल रूप से इंटर किया जाता था और  भंडारण के लिए मैगनेट ड्रम का प्रयोग किया जाता.

मार्क वन का कार्य:- मार्क 1 कंप्यूटर का प्रयोग गणनाये करने में क्या जाता था.

11 .ENIAC:- जेपी एकर्ट  और जॉन मोच्ली जो कि अमेरिकी वैज्ञानिक थे इन्होंने 18000 vaccum tubes का प्रयोग करके एक कंप्यूटर का निर्माण किया .जिसे एनिअक नाम से जानते हैं .इसे( Electronic Numerical Integrator and Calculator) भी कहते है .

एनिअक के कार्य:- इसका प्रयोग प्राइवेट इंजीनियर एसोसिएशन और IBM में किया गया था.

एनिअक के विशेषताएं:- पहला डिजिटल कंप्यूटर था.

12.EDSAC :- UK के वैज्ञानिक मैरिस विल्कस इ 1946ई. में EDSAC का निर्माण किया .यह पहला प्रोग्राम का प्रयोग किया हुआ डिजिटल कंप्यूटर था.इसे इलेक्ट्रॉनिक डिले storage आटोमेटिक कैलकुलेटर भी कहते है .

13.EDVAC :- अमेरिकी वैज्ञानिक जॉन वोन newman ने 1950 ई. में 30 टन बड़े ,150 फिट चौड़े कंप्यूटर EDVAC को बनाया .यह गणनाये करने का काम करता था .इसका पूरा नाम Electronic Discrete Variable Automatic computer है .

14 . UNIVAC :- अमेरिका के वैज्ञानिक जे प्रेसपर एकर्ट और जॉन मोचली ने 1951  में univac का निर्माण किया इस machine की विशेषताए यह थी की यह input और output की समश्यावो को बहुत जल्दी हल करता

था .यह सामान्य उद्देश्य के लिए प्रयोग किया जाने वाला पहले इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर था .
इसके प्रयोग वाणिज्यिक इस्तेमाल के लिए किआ जाता था .यह मैग्नेटिक टेप का प्रयोग input और output के लिए करता था .इसका पूरा नाम Universal Automatic computer है .

सारांश :-  दोस्तों आपने इस post में कंप्यूटर का इतिहस(History Of Computer In Hindi) के बारे में विस्तार से पढ़ा आशा करता हु की आपको History Of Computer In Hindi अच्छे से समझ में आ गया होगा .

Tips:-  अगर आप ccc एग्जाम की तयारी कर रहे है तो आप हमारे ccc online test को भी ज्वाइन कर सकते है .:- Start CCC online test 



Read Also :
1. सीसीसी ऑनलाइन टेस्ट 50 सवाल जो हर बार पूछे जाते है
2. Ccc Online Test 50 सवाल के साथ
3. कंप्यूटर के बारे में यहाँ से भी पढ़े 
4. कंप्यूटर का परिचय 
5. Average Function In Excel In Hindi.एक्सेल एवरेज फार्मूला 
6. Excel COUNT Function In Hindi,एक्सेल
7. ccc online test full कोर्स